Narendra Kumar's blog

thag

फटी हो पतलून,
निंद्रारहित रात,
बेरोजगारी भरी साँस,
आँसू भरी आँख,
बदतमीजी करते सरकारी अफसर और बस परिचालक,
कभी वक्त पर स्कूल ना आने वाले अध्यापक,
हर बात पे रिश्वत लेते सिपाही,
लेकिन प्यारा नेता बोले कि 'सब चंगा सी'. और तुमको लगे सब कुछ सही,
तो समझलो किताबें खरीदने का वक्त आग या है,
प्यारे नेता की हकीकत समझने का वक्त आ गया है,
सच जानने का वक्त आ गया है,
फकीरी को समझने का वक्त आ गया है,
किताबें खरीदने का वक्त आ गया है।

चुनावी घोषणा पत्र को ढूंढने का वक्त आ गया है,
वादों को याद करने का वक्त आ गया है,
स्वघोषित ईमानदार नेता से नजरें मिलाने का वक्त आ गया है,
उस ओछे माणस से सवाल पूछने का वक्त आ गया है।

कुपोषण के शिकार बच्चों के हक के लिए आवाज उठाने का वक्त यही है,
दिनों दिन महंगी होती स्वासथ्य सेवाओं के बारे में भी तो बात करनी है,
सड़क के गड्ढों का हिसाब भी तो माँगना है,
प्यारे नेता कि जवाबदेही भी तो कुछ बनती है।

सवालों से तुम्हें है नफरत, तो घर जाओ और कपड़ों की दुकान खोलो,
कपड़े बेरोजगार लोग ना खरीद पायें, धन्धा घाटे में जाता लगे,
तो परचून की दुकान लगा लो,
वो भी ना चले, सत्ता से सवाल तुम भी ना पूछना प्यारे नेता,
क्युंकी सवालों का ठेका तुमको दिया नहीं हमने,
और फिर तुम पढे ही कितने हो,
तुम चाहे कोई डीग्री दिखाओ, हमें मालूम है तुम्हारे दिमाग कि गुंजाईश,
तुम बेवकू़फ, धूर्त, झूठे, फरेबी, अहंकारी और नालायक हो,
दो कौड़ी के फासीवादी कायर हो।

तुम बहादुर और ईमानदार होते तो मुद्दे पे चुनाव ना लड़ते?
धर्म के नाम पे वोट की भीख माँगते?
विवधताओं का फायदा लेके, सामाजिक एकता को तोड़ने का काँड करते?
भ्रष्ट उधोगपतियों के साथ पैसे का नाच करते?
और फिर कैमरे के सामने, फकीर होने की फेकरी(Fake-ri) करते?
तुम ना महान, ना फकीर बल्की एक शैतान,
मुल्क को उसकी दौलत से लूटने वाले हैवान हो।

नागरिक भी समझें, सवाल पूछें,
भविष्य तुम्हारा है, उसकी लाईफ तो सेट है,
वो निक्कम्मा, इसिलिये तुम्हारे मन की शंकाओं की मदद लेता है,
विजिनरी नहीं, सिर्फ एक्टर है,
दिव्य नहीं, बिकाऊ मीडीया का बनाया हुआ अचार है,
इनका इतिहास पढो, ये कर्तव्य नागरिकों और अधिकार अपने लिये रखने वाले हैवान हैं,
ये अज्ञानी और निरंकुशता पसन्द हैं,
और इन्होंने हानिकारक नीतियाँ बनाने की ली सौगन्ध है,
इसिलिये कहता हूँ, किताबें खरीदो,
क्युकी सवाल पूछने का वक्त आ गया है।